‘विश्वेंद्र सिंह’ बनेंगे कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष ?

0

राजस्थान की सियासत में जैसे ही विधानसभा के अंदर कांग्रेस अपना बहुमत साबित कर देगी , उसके साथ ही राजस्थान में कांग्रेस के अंदर फिर से गुटबाजी चरम पर होगी , गुटबाजी कैबिनेट विस्तार को लेकर, गुटबाजी प्रदेश अध्यक्ष की कुर्सी को लेकर, सबसे पहले जंग कैबिनेट विस्तार को लेकर होगी, माना जा रहा है कि विधानसभा सत्र खत्म होने के 1 महीने के अंदर गहलोत कैबिनेट का विस्तार होगा, इसमें कुछ मंत्रियों की छुट्टी हो सकती है और कुछ नए विधायकों को जोड़ा जा सकता है, इनमें सचिन पायलट गुट के भी कई विधायक शामिल हो सकते हैं वही दूसरा फैसला प्रदेश अध्यक्ष की कुर्सी को लेकर भी हो सकता है, क्योंकि सचिन पायलट के अध्यक्ष पद छोड़ने के बाद इस पर जाट नेता गोविंद सिंह डोटासरा को बैठा दिया गया आपको बता दें कि जाट वोट बैंक कांग्रेस का को वोट बैंक है और राजस्थान प्रदेश कांग्रेस की कुर्सी पर ज्यादातर जाट नेताओं का दबदबा रहा है लेकिन सचिन पायलट यहां चाहेंगे कि इस कुर्सी पर कोई उनका अपना बैठे, हाल ही में सचिन पायलट गुट में डीग कुम्हेर से विधायक और पूर्व पर्यटन मंत्री विश्वेंद्र सिंह सारथी की भूमिका में नजर आए थे वह एक दिग्गज जाट नेता भी है और इससे पहले पीसीसी उपाध्यक्ष भी रह चुके हैं ऐसे में मुमकिन है कि अगर सचिन पायलट की आलाकमान से प्रदेश अध्यक्ष की कुर्सी को लेकर कोई समझौता हुआ है तो मुमकिन है कि इस पर विश्वेंद्र सिंह को सचिन पायलट बैठा सकते हैं यानी विश्वेंद्र सिंह कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष हो सकते हैं हालांकि यह कहना जल्दबाजी होगा की प्रदेश अध्यक्ष की कुर्सी पर बदलाव होगा या नहीं होगा क्योंकि गोविंद सिंह डोटासरा ने अभी भी अपने टि्वटर प्रोफाइल पर सचिन पायलट का फोटो लगाया हुआ है यानी उनको अंदेशा था इसमें सिर्फ सचिन पायलट की वापसी होगी बल्कि वह एक बार फिर से महत्वपूर्ण भूमिकाओं में नजर आएंगे

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here