वसुंधरा के विधायक को मिली सजा, आखिर क्यों हुआ ऐसा ?

0

प्रदेश प्रभारी अरुण सिंह के दौरे के बाद अब बीजेपी में बयानबाजी करने वाले वसुंधरा राजे खेमे के नेताओं पर कार्रवाई शुरू कर दी गई है। वसुंधरा राजे खेमे के वरिष्ठ नेता और पूर्व मंत्री रोहिताश शर्मा को उनके बयानों के आधार पर नोटिस जारी कर 15 दिन में जवाब मांगा गया है। बीजेपी के प्रदेश महामंत्री भजनलाल शर्मा ने यह नोटिस जारी किया है।

रोहिताश शर्मा को 1 जून को बीजेपी अलवर उत्तर जिला की बैठक के बाद दिए गए बयानों को आधार बनाकर नोटिस दिया है। नोटिस में रोहिताश शर्मा के उस बयान का उल्लेख है जिसमें कहा था कि राजस्थान भाजपा के नेता दफ्तरों से पार्टी चला रहे हैं। इस वक्त राजस्थान में विपक्ष का केंद्र में कांग्रेस जैसा हाल हो गया है।

रोहतिाश शर्मा ने कहा- वसुंधरा राजे की टीम ने कोरोना काल में लोगों की मदद की है। वसुंधरा राजे के अच्छे काम इन्हें बुरे क्यों लगते हैं। किसी भी देश और पार्टी को चलाने के लिए लीडर की जरूरत होती है। आज मोदी की जगह कोई और होता तो देश का इतना नाम थोड़े होता। इसी तरह राजस्थान वसुंधरा राजे के बिना नहीं चल सकता।

रोहिताश ने कहा कि हमने पहले भी आवाज उठाई है कि पार्टी में धरती पुत्रों को मत मारिए। कांग्रेस ने धरती पुत्रों को मारना शुरू किया तो बेहाल हो गए। यही काम अब यहां शुरू कर रहे हैं। बीजेपी में धरती पुत्रों को जिंदा रखने की जरूरत है।

उन्होंने कहा वसुंधरा राजे ने जो काम किए हैं उतने किसी ने नहीं किए। हम वसुंधरा राजे के अनुयायी हैं। वसुंधरा राजे के अच्छे कामों की मैंने प्रशंसा की है। अगर वसुंधरा राजे की तारीफ करने से ही किसी को चिढ़ है तो वह हम जरूर करेंगे। मेरे मन में दीनदयाल उपाध्याय बसते हैं। इनके कागजों से कोई बेटे से अपनी मां को दूर थोड़े ही कर सकता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here