खरीद फरोख्त प्रकरण में एक होटल से करोडों रूपये सहित दो लोग हिरासत में

0

जयपुर: राजस्थान में राज्यसभा चुनावों से पहले हो रही सियासी हलचल थमने का नाम ही नहीं ले रही है. विधायक खरीद-फरोख्त प्रकरण में एक नया मोड सामने आया है. आखिर सीएम अशोक गहलोत का शक सही निकला. सूत्रों के मुताबिक अज्ञात शक्तियां गहलोत सरकार को अल्पमत में लाने की कोशिशें कर रही है. पॉलिटिकल फंडिंग के दिल्ली से जयपुर आने के स्पष्ट संकेत मिले है.

सूत्रों के मुताबिक SOG ने कई दिन कई लोगों के फोन टेप किए थे. SOG की प्रारंभिक जांच में 4 लोगों के नाम सामने आए है. ये लोग खरीद-फरोख्त प्रकरण में सीधे तौर पर शामिल थे. इनमें से एक जयपुर के एक बड़े पांच सितारा होटल के मालिक का नाम शामिल है. यह होटल JLN मार्ग के आस-पास है. बाहर से आया हुआ पैसा यहां से बांटने की योजना बनाई गई थी.

सूत्रों के मुताबिक इसी प्रकार दूसरा नाम एक चार्टर्ड अकाउंटेंट का सामने आया है. राजस्थान से जुड़े यह चार्टर्ड अकाउंटेंट पिछले कई वर्षों से दिल्ली में है और दिल्ली में एक बड़े राजनीतिक दल के वित्तीय मामले देखते ये व्यक्ति. कई दूसरे बड़े राज्यों में भी पॉलिटिकल फंडिंग को हैंडल करने का इन्हें जबरदस्त अनुभव है. यह स्वभाव,प्रकृति और चेहरे-मोहरे से बहुत शालीन व्यक्ति दिखते है, लेकिन चार्टर्ड अकाउंटेंसी के काम में भी कई बार ऐसे काम भी करने पड़ते है. इस बीच बनीपार्क थाना क्षेत्र में SOG ने छापेमारी शुरू की, और एक होटल से करोड़ों रुपयों के साथ दो लोगों को हिरासत में लेने की सूचना भी मिली है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here