भारत में मिलने लगा मोदी मास्क, यहां से हुयी शुरूआत

0

कोरोना वायरस के खिलाफ जारी इस जंग में हर कोई अपने तरीके से लड़ रहा है। एक तरफ जहां कोई वासरस से लड़ रहा हैं तो कहीं कोई कोरोना वारियर्स की अपने तरीके से मदद कर रहा हैं ।

इसी बीच सूरत की एक सामाजिक संस्था मास्क बनाकर न सिर्फ गुजरात में बल्कि देश के बाकी शहरों में भी लोगों की मदद कर रही है। इस संस्था की तरफ से बनाए गए अब तक 25 लाख मास्क निशुल्क बांटे गए हैं।

इस संस्था ने मोदी मास्क के साथ साथ विविध डिज़ायन वाले मास्क बनाए हैं। कोरोना से लड़ने के लिए सूरत के मोटामंदिर युवक मंडल ने अब तक 22 लाख मास्क फ़्री में बांटे हैं और ये सेवा अभी भी निरंतर जारी है।

मोटा मंदिर युवक मंडल के द्वारा न सिर्फ़ गुजरात में ही बल्कि यूपी के वाराणसी और अमेठी में भी लाखों मास्क भेजे गए हैं। लोग ज़्यादा से ज़्यादा मास्क पहने इसलिए अलग-अलग प्रकार की डिज़ाइन और स्लोगन वाले मास्क बांटे जा रहे हैं।

इसमें मोदी मास्क नया है। इस पर मास्क पहने हुए पीएम मोदी की तस्वीर भी लगी है। बच्चों के लिए ख़ासकर कार्टून मास्क भी तैयार किए गए हैं। यह मास्क खादी और कॉटन से तैयार किए गए हैं। कोरोना से जंग जीतने के लिए सूरत का मोटा मंदिर युवक मंडल ने ख़ुद के खर्च से मास्क बनाने वाली मशीन भी ख़रीद ली है। यहां दिन-रात मास्क बनाने का काम चलता है।

मोटा मंदिर युवक मंडल के लोग कोरोना महामारी के बीच निष्ठापूर्वक काम करते हैं और यहां तैयार होने वाले मास्क की पैकिंग कर ज़रूरतमंदों तक पहुंचाते हैं। मोटा मंदिर युवक मंडल के सदस्य संजय दलाल का कहना है कि इस महामारी के वक्त में मास्क जीवन की जरूरी चीज बन गया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लोगों को मास्क पहनने के लिए कहा है। गरीब लोग मास्क नहीं खरीद सकते हैं जिन्हें हम मुफ्त में मास्क मुहैया करा रहे हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here