पायलट ने दी गहलोत को चुनौती ? ट्वीटर के जरिये गहलोत को दिया बडा संदेश !

0

जयपुर. राजस्थान सियासी संकट के बीच वार पलटवार जारी है गहलोत और पायलट खेमे दोनों के बीच तीखी जंग जारी है दोनों ही खेमे एक दूसरे पर तंज कसने का कोई भी मौका छोडना नहीं चाहते दोनों ही किसी न किसी मुद्दे पर एक दूसरे को तंज कसते हुये देखे जाते हैं हालांकि दोनों के बीच बडा अंतर है गहलोत खेमा जो भी बोल रहा है खुलकर मीडिया के सामने बोल रहा है और पायलट खेमा सोशल मीडिया के जरिये अपनी बात रख रहा है !

अब दरअसल बात करें पायलट के गहलोत के उपर तंज की तो रविवार को सचिन पायलट ने एक ट्वीट किया और उस ट्वीट के कई मायने लगाये गये ! दरअसल रविवार को बाल गंगाधर तिलक की पुण्यतिथी थी जिन्हें याद करते हुये पायलट ने लिखा कि “स्वराज मेरा जन्मसिद्ध अधिकार है और मैं इसे लेकर ही रहूँगा” का नारा देकर युवाओं के मन में देशप्रेम की अलख जगाने वाले महान स्वतंत्रता सेनानी एवं समाज सुधारक लोकमान्य बाल गंगाधर तिलक जी की पुण्यतिथि पर मैं उन्हें विनम्र श्रद्धांजलि अर्पित करता हूँ।

इस ट्वीट के बाद इसके कई सियासी मायने लगाये जाने लगे और कहा जाने लगा कि ये बाल गंगाधर तिलक को याद करते हुये पायलट ने गहलोत पर निशाना साध दिया है और गहलोत से पायलट कहना चाह रहे हैं कि मैने 5 साल राजस्थान में जो मेहनत की है उसके परिणामस्वरूप जो अधिकार मुझे मिलना चाहिए वो मैं लेकर रहूंगा !

आपको बता दें कि गहलोत और पायलट के बीच जब प्रदेश में कांग्रेस की सरकार बनी थी तब भी कुर्सी के लिए 7 दिन तक लडाई चली थी उसके बाद प्रदेश की कमान अशोक गहलोत को दी गयी जिसके बाद लगातार तनाव के चलते पायलट ने अब अपने बगावती तेवर दिखाये और अपने विधायकों को लेकर मानेसर रवाना हो गये जहां से अब वो सूबे में नेतृत्व बदलने की मांग कर रहे हैं !

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here