कन्हैया कुमार का पीएम पर वार कहा चीन अमेरिका के सामने दुम दबा लेते हैं प्रधानमंत्री

0

भारत-चीन सीमा विवाद के बीच सीपीआई नेता और जेएनयू के पूर्व छात्र कन्हैया कुमार ने बिना नाम लिए केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार पर निशाना साधा है। उन्होंने कहा कि अपने देश के पत्रकारों और विपक्षियों को आंख दिखाते हैं और चीन-अमेरिका के सामने दुम दबा लेते हैं। कन्हैया ने रविवार (21 जून, 2020) को ट्वीट कर कहा कि ”बिहार में एक कहावत है। ‘घर हरावन, बाहर जितावन’ साहेब भी ऐसा कर रहे हैं। अपने देश के विद्यार्थियों, पत्रकारों, विपक्षियों और सामाजिक कार्यकर्ताओं को आंख दिखाते हैं। उन्हें जेल में डालते हैं। मगर चीन और अमेरिका के सामने दुम दबा लेते हैं।”

सीपीआई नेता के ट्वीट पर सोशल मीडिया यूजर्स ने प्रतिक्रिया दी है। कई यूजर्स ने उन्हें निशाने पर भी लिया है। हिंदुस्तानी भाव लिखते हैं, ‘बिहार में एक कहावत है लात के भूत बातों से नहीं मानते… और कन्हैया कुमार एक लात भूत हैं।’ हाशिम लिखते हैं, ‘मोदी चीन के एजेंट की तरह काम कर रहे हैं। मोदी देश को धोखा दे रहे हैं, वो देश से झूठ बोल रहे हैं।’

दिवेश सिंह @DiveshS43893953 लिखते हैं, ‘वामपंथियों के गढ़ चीन का जब से भारतीय सेना से सामना हुआ है तभी से यह चीन के लिए बैटिंग कर रहा है। इनके किसी भी ट्वीट में चीन के लिए कोई विरोध नहीं है। यह जिन्हें छात्र और सामाजिक कार्यकर्ता बोल रहे हैं उनके खिलाफ एनएसए के तहत कार्रवाई हुई है।’

इसी तरह एक अन्य यूजर @SatishM81957227 लिखते हैं, ‘जिन्हें पिछले सत्तर वर्षों से कोई रोकता नहीं था, उन्हें रोका जा रहा है, टोका जा रहा है, जरूरत पड़ने पर ठोका भी जा रहा है। बस चीन और कम्युनिस्टों की असली दिक्कत यही है!!’ बलराम यादव @Baliramyadav007 लिखते हैं, ‘हम अक्सर समाचार पत्रों में सुनते थे कि कश्मीर में पत्थरबाजी हुआ करती थी। ISIS/पाकिस्तानी झंडे लहरते थे। नेहरू/इंदिरा/राजीव 55 वर्ष के शासन में भी इसका समाधान नहीं कर पाए। परन्तु मोदी जी द्वारा धारा 370 हटाने के बाद कश्मीर शांत हुआ/पत्थरबाजी इतिहास हो गई।’
गौतम तिवारी @GautamT93613351 लिखते हैं, ‘यह चौकीदार सिर्फ नाम का चौकीदार है काम का नहीं। यह चौकीदार ना देश के लिए बोल पाता है ना लड़ पाता है। चौकीदार साहब सिर्फ अपने फायदे, अपने हित के लिए सोचते हैं बाकि जनता के लिए कुछ नहीं।’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here