ICMR ने किया टेस्टिंग में बदलाव, अब ऐसे होगी जांच

0

नई दिल्ली : देश में कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों के चलते इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च ने अपनी टेस्टिंग रणनीति में बदलाव करने के निर्देश दिए हैं ।

सोमवार दोपहर तक देश में कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा 96169 तक पहुंच गया हैं तथा वायरस से अब तक कुल 3029 मौते हो चुकी हैं ।

अब ऐसे होगी कोरोना संक्रमितों की जांच

1. ICMR के मुताबिक अब उन सभी लोगों की कोविड 19 जांच होगी, जिन्‍होंने पिछले 14 दिन में कोई अंतरराष्‍ट्रीय यात्रा की हो और उनमें कोविड 19 जैसे लक्षण हों.

2. कोविड 19 पॉजिटिव के संपर्क में आए हाई रिस्‍क के गैर लक्षण वाले लोगों की जांच. इनकी जांच कोविड 19 पॉजिटिव के संपर्क में आने के 5वें और 10वें दिन के बीच होगी.

3. कंटेनमेंट और हॉटस्‍स्‍पॉट जोन में रहने वाले उन सभी लोगों की जांच जिनमें कोविड 19 के लक्षण होंगे. मतलब जिन्‍हें खांसी-बुखार और सांस लेने में तकलीफ हो रही होगी.

4. अस्‍पताल में भर्ती उन सभी मरीजों की जांच होगी जिनमें बुखार-खांसी और सांसा लेने में परेशानी जैसी शिकायत होगी.

5. प्रवासी या कहीं दूसरी जगह से लौटने वाले व्‍यक्ति की जांच तबीयत खराब होने के 7 दिन के भीतर होगी. ऐसे लोगों की जांच भी बुखार-खांसी और सांस लेने में तकलीफ जैसी परेशानी होनी की जाएगी.

6.टेस्टिंग की कमी के कारण किसी भी तरह की इमरजेंसी प्रक्रिया (प्रसव भी) में देरी नहीं की जाएगी. लेकिन अगर किसी भी तरह का कोविड 19 लक्षण मिलने पर सैंपल जांच के लिए भेजा जा सकता है.

7.ऊपर दी गई सभी श्रेणियों में कोविड 19 की टेस्टिंग रियल टाइम RT-PCR टेस्‍ट के जरिये होगी.

8. लैबोरेटरी में मरीज के कोविड 19 केस की पुष्टि होने पर उसके संपर्क में आए वे लोग जिनमें कोविड 19 के लक्षण होंगे.

9. कोविड 19 के कंटेनमेंट जोन में काम करने वाले सभी स्‍वास्‍थ्‍य कर्मचारियों या अन्‍य कर्मचारियों की जांच. (जिनमें बुखार-खांसी और सांस लेने में तकलीफ जैसे कोविड 19 के लक्षण होंगे).
10.जिन लोगों एक्‍यूट रेस्पिरेटरी इंफेक्‍शन के साथ ही बुखार, खांसी के लक्षण मिलेंगे और उन्‍हें अस्‍पताल में भर्ती होने की जरूरत होगी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here