पायलट को गहलोत दे सकते हैं एक बडा झटका ! पायलट से छीन सकते हैं ये चीज !

0


जयपुर: राजस्थान (Rajasthan) में सियासी हलचल के बीच गहलोत सरकार डिप्टी सीएम रहे सचिन पायलट (Sachin Pilot) की जेड श्रेणी की सुरक्षा वापस ले सकती है. डिप्टी सीएम की कुर्सी जाते ही सरकार जेड श्रेणी (Z level Security) की सुरक्षा वापस लेने पर गंभीरता से विचार कर रही है. गृह विभाग के सूत्रों के अनुसार राज्य सरकार सचिन पायलट की जेड श्रेणी की सुरक्षा वापस ले सकती है. उच्च स्तर पर मंथन चल रहा है. हालांकि अंतिम निर्णय मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की अध्यक्षता में गठित कमेटी ही करेगी. कमेटी की अनुशंसा पर ही विभाग जेड श्रेणी की सुरक्षा वापस लेगा. सूत्रों के अनुसार पायलट को जेड श्रेणी की सुरक्षा बतौर डिप्टी सीएम (Deputy CM) की हैसियत से मिली हुई थी. अब पायलट डिप्टी सीएम नहीं रहे हैं, सिर्फ विधायक है. ऐसे में सरकार पायलट की जेड श्रेणी की सुरक्षा वापस ले सकती है.

सचिवालय से हटाई नेम प्लेट

डिप्टी सीएम के पद से सचिन पायलट को हटाए जाने के बाद गहलोत सरकार ने फौरन कार्रवाई करते हुए सचिन पायलट के शासन सचिवालय स्थित दफ्तर से नेम प्लेट हटा दी है. शासन सचिवालय की मेन बिल्डिंग के सेकंड फ्लोर पर सचिन पायलट को बतौर ग्रामीण एवं पंचायतीराज मंत्री 3104 नम्बर का कमरा आवंटित किया गया था. सचिन पायलट अपनी महत्वपूर्ण मीटिंग इसी कमरे में लिया करते थे. सीएमओ के निर्देश मिलने के बाद सचिवालय पंजीयन विभाग के स्टाफ ने सचिन पायलट की उपमुख्यमंत्री के नाम से लिखी गई नेम प्लेट को हटा दिया है.

इससे पहले प्रदेश कांग्रेस कार्यालय से बतौर प्रदेश अध्यक्ष सचिन पायलट की नेम प्लेट को हटा दिया गया था. उनके स्थान पर गोविंद सिंह डोटासरा के नाम की नेम प्लेट लगा दी गई. उल्लेखनीय है कि कांग्रेस हाई कमान ने पार्टी के खिलाफ कार्य करने पर उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट को प्रदेश कांग्रेस पद के पद से हटा दिया था और शेखावाटी के दिग्गज जाट नेता गोविंद सिंह डोटासरा को नया प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष नियुक्त कर दिया

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here