दिल्ली में सचिन पायलट, होगा बड़ा धमाका !

0

वर्तमान राजनीति में सचिन पायलट का दिल्ली में ज्यादा सक्रिय होना, अशोक गहलोत की राजनीति के लिए नुकसानदायक है, हाल ही में जब सचिन पायलट दिल्ली में थे, तो वहां से अशोक गहलोत को 3 बड़े झटके दिए थे, पहला अविनाश पांडे का राजस्थान से विदा होना, दूसरा तीन सदस्यों की कमेटी बनवाना जिनमें 2 सचिन पायलट के चाहने वाले थे, एक केसी वेणुगोपाल और दूसरे अजय माकन, तीसरा अविनाश पांडे की जगह अजय माकन को कांग्रेस प्रदेश प्रभारी बनवाना ।राजस्थान की सियासत एक बार फिर से करवट ले रही है, कल अजय माकन को जयपुर आना था लेकिन उन्होंने अपना प्रोग्राम कैंसिल कर दिया कारण बताया गया, कोरोना की वजह से ही ऐसा किया, लेकिन कोरोना के वक्त में अजय माकन राजस्थान में 1 महीने से ज्यादा रुक कर गए हैं, दूसरा जो 3 सदस्यों की कमेटी बनाई गई उसकी बैठकर राजस्थान में होनी थी लेकिन अब तय हुआ कि ये बैठक दिल्ली में होंगी और दिल्ली में ही तमाम शिकायतों को सुना जाएगा । यह भी सचिन पायलट का एक मास्टरस्टॉक है, शायद सचिन पायलट यह जानते थे कि अगर यह कमेटी राजस्थान आई और राजस्थान में इसने अपनी रिपोर्ट बनाई तो उस पर अशोक गहलोत का पूरा प्रभाव नजर आएगा और इसीलिए सचिन पायलट ने शायद कमेटी के राजस्थान ना आने के फैसले को मनवा लिया । अब सचिन पायलट दिल्ली पहुंचे हैं माना जा रहा है कि वह कमेटी के सदस्यों से मुलाकात करेंगे और अपनी बातों को भी रखेंगे। इस दौरान एक बार फिर से राजस्थान की सियासत में कुछ बड़ा बदलाव देखने को मिल सकता है और यह बदलाव हो सकता है। राजस्थान में वर्तमान 4 सह- प्रभारियों को बदलने का । क्योंकि अजय माकन अब प्रदेश कांग्रेस प्रभारी बन गए हैं ऐसे में मुमकिन है कि सचिन पायलट के कहने पर वह अपने चारों सह- प्रभारियों को भी बदल दें और उनकी जगह अपने सह-प्रभारियों को लगवा दें, इससे सचिन को फायदा यह होगा कि जो रिपोर्ट अभी तक अशोक गहलोत के समर्थन में दिल्ली तक जाती थी अब रिपोर्ट में सचिन पायलट का दबदबा नजर आएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here