सीएम गहलोत छोड देगें राजनीति ? सियासी संकट के बीच गहलोत का बडा बयान !

0

जयपुर: राजस्थान की सियासत में चल रहे शह और मात के खेल में रोज नए-नए खुलासे हो रहे हैं। विधायकों की खरीद-फरोख्त का ऑडियो सामने आने के बाद मुख्यमंत्री अशोक गहलोत फ्रंट फुट पर बैटिंग कर रहे हैं। बीजेपी सांसद और केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत के खिलाफ इस मामले में एफआईआर दर्ज होने के बाद बीजेपी ने गहलोत पर हमला तेज कर दिया है।

राजस्थान में उठा सियारी बवाल अब कोर्ट तक पहुंच गया है। इस बीच राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कई निजी न्यूज चैनलों को इंटरव्यू दिया है। उनका कहना है कि कोई व्यक्ति अगर पार्टी में है और वह पार्टी से अलग होना चाहता है तो उसी की प्रक्रिया हमने शुरू की है। उन्होंने कहा कि कानून के मुताबिक पायलट को नोटिस दिया गया है। मामला अब कोर्ट में है।

अशोक गहलोत ने खरीद फरोख्त के ऑडियो को लेकर लग रहे आरोपों पर एक निजी न्यूज चैनल से बातचीत में कहा कि टेप फर्जी हुआ तो राजनीति छोड़ दूंगा। अशोक गहलोत ने कहा कि अगर किसी ने ये साबित कर दिया की इस आडियो टेप मे मुख्यमंत्री का दफ़्तर शामिल है तो मै राजनीति छोड़ दूंगा। गहलोत का यह बयान ऐसे समय में आया है जब बीजेपी और केंद्रीय मंत्री वायरल हो रहे ऑडियो को फर्जी बता रहे हैं।

इस ऑडियो राजस्थान सरकार के ओएसडी लोकेश शर्मा ने जारी किया है और दावा किया गया है कि केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह जयपुर के संजय जैन के जरिए विधायक भंवरलाल शर्मा के संपर्क में हैं।

राजस्थान के बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष सतीश पुनिया ने कहा कि इस फर्जी ऑडियो टेप का स्टेटस क्या है? इसे किसने जारी किया है? इस टेप की सत्यता क्या है? इनके पास ऑडियो टेप कहां से आये? क्या इनकी जांच हुई? किस हैसियत से मुख्यमंत्री के ओएसडी लोकेश शर्मा ने यह जारी किये? उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री निवास फर्जी ऑडियो वायरल करने का केन्द्र बना हुआ है। इन्हीं आरोपों पर गहलोत ने जवाब दिया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here