मृतकों के लिए सीएम गहलोत ने देर रात लिया फैसला, अहम बैठक में लिया फैसला

0

जयपुर. कोरोना के चलते लागू लॉकडाउन के कारण लोग बहुत सी परेशानियों से जूझ रहे हैं ! कोरोना महामारी के बीच जिन लोगों की मृत्यु हुयी उनका अंतिम संस्कार तो हो गया है लेकिन उसके बाद की तमाम अंतिम क्रियायें नहीं हो पायी हैं !

इस बात को गंभीरता से लेते हुये मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने देर रात निवास पर कोर ग्रुप की बैठक ली जिसमें सीएम गहलोत ने बड़ा फैसला लिया है ! सीएम गहलोत ने प्रदेशवासियों को राहत देने के लिए ये फैसला लिया है !सीएम ने निर्देश दिए हैं कि प्रदेश में लॉकडाउन लागू होने के बाद विभिन्न कारणों से दिवंगत हुए लोगों के परिजन अस्थि विसर्जन के लिए जा सकें, इसके लिए विशेष बसें चलाई जाएं और इस कार्य के लिए उत्तराखंड और उत्तर प्रदेश सरकार से इन बसों के संचालन पर सहमति के लिए शीघ्र वार्ता की जाए। गहलोत ने कहा कि यह अत्यंत दुर्भाग्यपूर्ण और पीडादायक है कि लॉकडाउन की पालना के कारण परिजन के निधन के बाद शोकाकुल परिवार अस्थियों का विसर्जन करने नहीं जा पाए। राज्य सरकार इस मार्मिक स्थिति से वाकिफ है। इस मानवीय पहलू को ध्यान में रखते हुए ये विशेष बसें चलाने का निर्णय किया गया है।

दूसरे राज्यों से आये प्रवासियों पर नहीं बरते लापरवाही

सीएम गहलोत ने निर्देश दिये हैं कि अन्य राज्यों से आए प्रवासियों के क्वारेंटीन को लेकर किसी तरह की लापरवाही नहीं हो। जिला स्तर पर वरिष्ठ अधिकारी संस्थागत तथा होम क्वारेंटीन व्यवस्थाओं की लगातार मॉनीटरिंग करें। संस्थागत क्वारेंटीन में लोगों को भोजन, पानी सहित सभी मूलभूत सुविधाएं उपलब्ध कराना सुनिश्चित किया जाए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here