सीएम गहलोत ने किया वादा पूरा, गहलोत के इस काम से विकास कार्य होगें तेजी से

0

प्रदेश की अशोक गहलोत सरकार ने अपनी बजट घोषणा का वादा पूरा करते हुए 16 नए शहरों का गठन कर दिया है. प्रदेश सरकार द्वारा शनिवार को जारी की गई अधिसूचना में 16 नई नगर पालिकाओं का गठन किया गया है.

स्वायत्त शासन मंत्री शांति धारीवाल ने बताया विधानसभा में वित्तीय वर्ष-2019-20 की बजट घोषणा में सीएम अशोक गहलोत ने कहा था कि प्रदेश में विकास कार्यों में तेजी लाने और जनसमस्याओं के शीघ्र निस्तारण के लिए नई नगर पालिकाओं का गठन किया जायेगा. इसी क्रम में प्रदेश में 16 नई नगर पालिकाओं का गठन कर दिया गया है. अब प्रदेश में 212 नगरीय निकाय हो गये हैं.

धारीवाल ने बताया कि नवगठित नगर पलिकाओं में सम्मिलित किये गये ग्राम पंचायत क्षेत्रों को पंचायत सीमा से पृथक किये जाने के संबंध में नियमानुसार अग्रिम कार्रवाई भी जल्द ही पूरी की जायेगी.

ये होंगी नई नगरपालिका

धारीवाल ने बताया कि नई नगर पालिकाओं में जयपुर जिले का बस्सी और पावटा, अलवर जिले का लक्ष्मणगढ़, रामगढ़ और बानसूर, दौसा का मंडावरी, जोधपुर का भोपालगढ़ और सिरोही के
जावाल को नई नगरपालिका बनाया गया है. इसी प्रकार भरतपुर जिले में सीकरी और उच्चैन, धौलपुर जिले में सरमथुरा और बसेड़ी, करौली में सपोटरा, कोटा जिले में सुल्तानपुर, बारां जिले में अटरू और श्रीगंगानगर में लालगढ़ जाटान
को नया नगरीय निकाय बनाया गया है.

शहरी निकायों की संख्या हुई 212

नए नगरीय निकाय के गठन से इन इलाकों में विकास में तेजी आएगी. निकाय क्षेत्र के विकास का बजट काफी अलग और बड़ा होता है. इनमें शहर के माफिक कई सुविधाएं विकसीत होने के साथ दूसरे कई फायदे भी हैं. इन निकायों में आसपास की ग्राम पंचायतों के गांवों का शामिल किया गया है. 16 नए निकायों के गठन के बाद अब प्रदेश में शहरी निकायों की संख्या 212 हो गई है. इसके साथ ही अब इलाकों में राजनीति दलों से जुड़े लोगों को भी नए अवसर मिलेंगे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here