पंचायत चुनाव में बडा मोड, जिला कलेक्टरों को दिये आदेश ! इस कार्य के बाद कराये जायेगें चुनाव !

0

जयपुर/सीकर. पहले आरक्षण के पेच और अब लॉकडाउन की वजह से प्रदेशभर में उलझे पंचायत चुनावों की आस अब फिर जगी है। अनलॉक के बाद राज्य निर्वाचन आयोग ने चुनाव की तैयारी तेज कर दी है। राज्यसभा चुनाव होने के बाद पंचायत चुनाव अनलॉक होने की संभावना है। इसके लिए राज्य निर्वाचन आयोग ने सभी जिला कलक्टरों से जहां-जहां पंचायत चुनाव होने हैं उनकी मतदाता सूचियों के संबंध में जानकारी मांगी है।

नया कलैण्डर जल्द जारी होने की संभावना….
प्रदेश के 26 जिलों में इसी सप्ताह मतदाता सूचियों का काम भी पूरा हो गया है। पंचायत चुनाव का नया कलैण्डर जल्द जारी होने की संभावना है। पंचायत चुनाव के आखिरी चरण में ग्राम पंचायतों के साथ पंचायत समिति व जिला परिषद सदस्यों के भी चुनाव की संभावना है। निर्वाचन आयोग की तैयारियों के बाद पंचायत चुनाव में ताल ठोकने की तैयारी में जुटे जनप्रतिनिधियों की आस फिर जगी है।

26 जिलों में होने हैं चुनाव….
प्रदेश के 26 जिलों में पंचायत चुनाव होने है। निर्वाचन आयोग के अनुसार, अजमेर, अलवर, बांसवाड़ा, बारां, बाड़मेर, भरतपुर, भीलवाड़ा, बीकानेर, चूरू, दौसा, धौलपुर, हनुमानगढ़, जयपुर, जैसलमेर, जालौर, झुंझुनूं, जोधपुर, करौली, नागौर, पाली, प्रतापगढ़, सवाईमाधोपुर, सीकर, सिरोही, श्रीगंगानगर व उदयपुर जिले में चुनाव होने हैं।

3800 से अधिक पंचायतों में चुनाव शेष….
नवगठित पंचायतों के हिसाब से प्रदेश की 11 हजार से अधिक ग्राम पंचायतों में से 3800 से अधिक ग्राम पंचायतों के चुनाव होने हैं। अन्य ग्राम पंचायतों के चुनाव तीन चरणों में हो चुके हैं।

पहले अप्रेल में होने थे….
नवगठित पंचायत चुनावों का मामला सुप्रीम कोर्ट तक पहुंचा। न्यायालय ने राज्य सरकार को राहत देते हुए चुनाव कराने की अनुमति दी थी। ऐसे में सरकार की ओर से 23 मार्च को मतदाता सूचियों का अंतिम प्रकाशन होना था, लेकिन मामला लॉकडाउन में उलझ गया। अब सरकार ने 10 जून को सभी जिला कलक्टरों के जरिए अंतिम प्रकाशन कराया है।

इधर, 129 निकायों का अगस्त में कार्यकाल समाप्त….
प्रदेश की 129 नगर पालिका व नगर परिषदों का कार्यकाल अगस्त महीने में समाप्त हो रहा है। इस मामले में भी राज्य निर्वाचन आयोग ने प्रदेश के सभी जिला कलक्टरों को पत्र लिखा है। सभी कलक्टरों को मतदाता सूचियों का कार्य इस महीने से शुरू करने से निर्देश दिए हैं। मतदाता सूचियों का प्रारूप प्रकाशन व अंतिम प्रकाशन 27 जून से 20 जुलाई तक करना है। इसके लिए आयोग ने कलैण्डर जारी किया है।

यहां प्रशासक राज….
लॉकडाउन की वजह से प्रदेश में पंचायतों के चुनाव बीच में अटके हुए हैं। प्रदेश की जिला परिषद, पंचायत समितियों के साथ कुछ ग्राम पंचायतों में भी प्रशासक राज है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here