कोरोना वायरस के बाद इस संकट पर पीएम मोदी की अहम बैठक, अमित शाह भी रहेंगे मौजूद !

0

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को देश के विभिन्न हिस्सों में चक्रवात एंफन से उत्पन्न स्थिति की समीक्षा करने के लिए गृह मंत्रालय (MHA) और राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (NDMA) के अधिकारियों के साथ आपातकालीन बैठक की। गृह मंत्री अमित शाह भी बैठक में मौजूद रहे। पीएम ने स्थिति का पूरा जायजा लिया और प्रतिक्रिया तैयारियों के साथ-साथ एनडीआरएफ द्वारा प्रस्तुत निकासी योजना की समीक्षा की।

प्रधानमंत्री कार्यालय की ओर से जानकारी दी गई कि पीएम नरेंद्र मोदी ने बंगाल की खाड़ी में विकसित हो रहे चक्रवात ‘अम्फान’ के खिलाफ प्रतिक्रिया उपायों की समीक्षा के लिए आज एक उच्च-स्तरीय बैठक की अध्यक्षता की. !

बैठक में प्रधानमंत्री ने संभावित परिस्थितियों के बारे में जानकारी ली. खतरे की स्थिति में क्या किया जाना चाहिए और इसकी क्या तैयारी है, इस बारे में भी उन्होंने विस्तार से चर्चा की. लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाने के लिए एनडीआरएफ की क्या तैयारी है, इस बारे में प्रधानमंत्री ने जाना. बैठक में एनडीआरएफ के डीजी ने अम्फान को लेकर शुरू किए गए रेस्पॉन्स प्लान के बारे में जानकारी दी. डीजी ने बताया कि तूफान के इलाकों में 25 एनडीआरएफ की टीमें तैनात की गई हैं और 12 टीमों को रिजर्व रखा गया है. देश के अलग-अलग हिस्सों में 24 एनडीआरएफ टीमों को स्टैंडबाई में भी रखा गया है.

बैठक के बारे में केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने सोमवार सुबह ट्वीट कर जानकारी दी थी. अमित शाह ने ट्वीट में लिखा, ‘देश के कई हिस्सों में चक्रवात की बढ़ती चिंता को देखते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज (सोमवार) शाम चार बजे गृह मंत्रालय और एनडीएमए के साथ बड़ी बैठक करेंगे’.

मौसम वैज्ञानिकों ने कहा है कि तेज हवाओं के कारण बिजली एवं संचार के खंभे मुड़ या उखड़ सकते हैं, रेलवे सेवाओं को कुछ हद तक बाधित कर सकते हैं और ऊपर से गुजरने वाले बिजली के तार एवं सिग्नल प्रणालियां प्रभावित हो सकती हैं तथा तैयार फसलों, खेतों-बगीचों को बड़े पैमाने पर नुकसान हो सकता है।

तटीय ओडिशा में 18 मई की शाम से कई स्थानों पर हल्की से मध्यम बारिश हो सकती है जबकि गजपति, गंजाम, पुरी, जगतसिंहपुर और केंद्रपाड़ा जैसे ओडिशा के तटीय जिलों में कुछ स्थानों पर भारी बारिश हो सकती है।

कोलकाता में क्षेत्रीय मौसम केंद्र के निदेशक जी के दास ने कहा कि चक्रवात के प्रभाव से उत्तर और दक्षिण 24 परगना, पूर्वी एवं पश्चिमी मिदनापुर, हावड़ा और हुगली समेत पश्चिम बंगाल के तटीय जिलों में 19 मई को कई स्थानों पर हल्की से मध्यम बारिश हो सकती है जबकि दूर-दराज के कुछ इलाकों में भारी बारिश का अनुमान है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here